Menu
Your Cart

Bhakti_Sangrah RSS Feed

19 Apr हनुमान जन्मोत्सव कैसे मनाए
jipanditji 0 349
पवनपुत्र हनुमान कहें या मारुति नंदन, संकटमोचन हनुमान हर किसी परिस्थिति में अपने भक्तों के संकट हर लेते हैं। हनुमान जन्मोत्सव चैत्र माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है। हनुमान जन्मोत्सव के दिन सभी भक्त हन..
15 Apr Kanya Pujan an ancient Navratri Tradition
jipanditji 2 67
Navratri Ashtami, one of the most sacred days during the nine-day festival of Navratri, is marked by the revered tradition of Kanya Pujan. On this day, devotees honor nine young girls, symbolizing the..
05 Apr कलयुग में एसे मिलेगी पापों से मुक्ति
jipanditji 0 909
कलयुग में जीवन के विभिन्न पहलुओं में पापों का संग्रह अधिक होता है। इस संग्रह को दूर करने के लिए सनातन धर्म में एकादशी व्रतों का महत्व अत्यधिक है।इस बार यह व्रत 05 अप्रैल को है। इस तिथि पर जगत के पालनह..
04 Apr ढूंढिए अपना रंग जो आपकी भूमिका को निखारे
jipanditji 4 923
हर इंसान किसी न किसी रंग में रंगा है, किसी न किसी राग में मस्त है। दुनिया के रंगमंच पर विभिन्न भूमिकाएं अदा कर रहे इंसान अलग-अलग रंगों की शरण लेते हैं।साधु-सन्‍यासी गेरूआ पहनते हैं तो समाज सेवी सफेद, ..
25 Mar कनक धारा पूजा: भारी कर्ज से उबरें और वित्तीय स्थिरता में सुधार करें
jipanditji 1 14659
कनक धारा देवी लक्ष्मी का एक रूप है। "कनक" का अर्थ "धन" और "धारा" का अर्थ "प्रवाह" है, इस प्रकार कनकधारा का अर्थ है धन और भाग्य का निरंतर प्रवाह।इस पूजा की उत्पत्ति प्राचीन काल से है। कनक धारा स्तोत्रम..
23 Mar होली पर ग्रहण? या छाया का खेल
jipanditji 0 371
हर साल फाल्गुन माह की पूर्णिमा तिथि को होलिका दहन किया जाता है और अगले दिन बड़े धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ होली मनाई जाती है। दृक पंचांग के अनुसार, इस वर्ष 24 मार्च की रात्रि में होलिका जलाई जाएंगी औ..
20 Mar रंगभरी 'आमलकी
jipanditji 0 123
हिन्दू पंचांग के अनुसार रंगभरी एकादशी फाल्गुन मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को मनाई जाती है। रंगभरी या आमलकी एकादशी के दिन भगवान विष्णु के साथ शिवजी की पूजा भी की जाती है। यह साल की एक मात्र ऐसी एक..
18 Mar सोलह संस्कार: क्यों आवश्यक हैं सनातन धर्म में ये संस्कार?
jipanditji 1 117
सोलह संस्कार :-शास्त्रों के अनुसार मनुष्य जीवन के लिए कुछ आवश्यक नियम बनाए गए हैं जिनका पालन करना हमारे लिए आवश्यक माना गया है। मनुष्य जीवन में हर व्यक्ति को अनिवार्य रूप से सोलह संस्कारों का पालन करन..
13 Mar Skanda Shasti: The Celebrated Festival and its Rituals in Indian Culture
jipanditji 1 474
Skanda Shasti, also known as Kanda Shashti, is one of the most revered festivals in Indian culture. Dedicated to Lord Murugan, also known as Skanda, it is celebrated with great fervour and devotion by..
12 Mar मंगल के प्रभाव और उपाय
jipanditji 2 133
ख़राब मंगल के परिणाम- इंसान क्रूर और हिंसक स्वभाव का होता है आत्मविश्वास और साहस का स्तर कमजोर होता है संपत्ति और जमीन के मामले में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. इंसान को रक्त सम्बन्धी समस्याएँ हो..
12 Mar विघ्नहर्ता से सुधर सकते हैं वास्तुदोष
jipanditji 2 95
वास्तु पुरुष की प्रार्थना पर ब्रह्माजी ने वास्तुशास्त्र के नियमों की रचना की थी। इनकी अनदेखी करने पर उपयोगकर्ता की शारीरिक, मानसिक, आर्थिक हानि होना निश्चित रहता है। वास्तुदेवता की संतुष्टि गणेशजी की ..
12 Mar कैसे भगवान गणेश महाभारत लिखने के लिए सहमत हुए।
jipanditji 2 60
पुराने हिंदू किंवदंतियों के अनुसार, ऋषि व्यास ने महाभारत का पाठ किया और भगवान गणेश ने लिखा। ग्रह पर सबसे लंबा महाकाव्य एक आम लेखक के लिए आसान गतिविधि नहीं थी। ऋषि व्यास किसी ऐसे व्यक्ति की तलाश में थे..
Showing 1 to 12 of 103 (9 Pages)