Menu
Your Cart

Gyan Vigyan RSS Feed

27 Apr Sankashti Chaturthi: A Sacred Fast Dedicated to Lord Ganesh
jipanditji 0 153
Sankashti Chaturthi, a revered observance in Hindu culture, is a fasting day dedicated to Lord Ganesha, the remover of obstacles. Falling on the fourth day of the waning moon, or Krishna Paksha, this ..
15 Apr Kanya Pujan an ancient Navratri Tradition
jipanditji 2 200
Navratri Ashtami, one of the most sacred days during the nine-day festival of Navratri, is marked by the revered tradition of Kanya Pujan. On this day, devotees honor nine young girls, symbolizing the..
05 Apr कलयुग में एसे मिलेगी पापों से मुक्ति
jipanditji 0 1053
कलयुग में जीवन के विभिन्न पहलुओं में पापों का संग्रह अधिक होता है। इस संग्रह को दूर करने के लिए सनातन धर्म में एकादशी व्रतों का महत्व अत्यधिक है।इस बार यह व्रत 05 अप्रैल को है। इस तिथि पर जगत के पालनह..
04 Apr ढूंढिए अपना रंग जो आपकी भूमिका को निखारे
jipanditji 4 1047
हर इंसान किसी न किसी रंग में रंगा है, किसी न किसी राग में मस्त है। दुनिया के रंगमंच पर विभिन्न भूमिकाएं अदा कर रहे इंसान अलग-अलग रंगों की शरण लेते हैं।साधु-सन्‍यासी गेरूआ पहनते हैं तो समाज सेवी सफेद, ..
25 Mar कनक धारा पूजा: भारी कर्ज से उबरें और वित्तीय स्थिरता में सुधार करें
jipanditji 1 14795
कनक धारा देवी लक्ष्मी का एक रूप है। "कनक" का अर्थ "धन" और "धारा" का अर्थ "प्रवाह" है, इस प्रकार कनकधारा का अर्थ है धन और भाग्य का निरंतर प्रवाह।इस पूजा की उत्पत्ति प्राचीन काल से है। कनक धारा स्तोत्रम..
23 Mar होली पर ग्रहण? या छाया का खेल
jipanditji 0 486
हर साल फाल्गुन माह की पूर्णिमा तिथि को होलिका दहन किया जाता है और अगले दिन बड़े धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ होली मनाई जाती है। दृक पंचांग के अनुसार, इस वर्ष 24 मार्च की रात्रि में होलिका जलाई जाएंगी औ..
18 Mar सोलह संस्कार: क्यों आवश्यक हैं सनातन धर्म में ये संस्कार?
jipanditji 1 238
सोलह संस्कार :-शास्त्रों के अनुसार मनुष्य जीवन के लिए कुछ आवश्यक नियम बनाए गए हैं जिनका पालन करना हमारे लिए आवश्यक माना गया है। मनुष्य जीवन में हर व्यक्ति को अनिवार्य रूप से सोलह संस्कारों का पालन करन..
12 Mar विघ्नहर्ता से सुधर सकते हैं वास्तुदोष
jipanditji 2 193
वास्तु पुरुष की प्रार्थना पर ब्रह्माजी ने वास्तुशास्त्र के नियमों की रचना की थी। इनकी अनदेखी करने पर उपयोगकर्ता की शारीरिक, मानसिक, आर्थिक हानि होना निश्चित रहता है। वास्तुदेवता की संतुष्टि गणेशजी की ..
06 Mar ओम या ऊँ के रहस्य और चमत्कार
jipanditji 1 120
हिन्दू धर्म में ओम एक ‘विशेष ध्वनि’ का शब्द है।तपस्वी और ध्यानियों ने जब ध्यान की गहरी अवस्था में सुना की कोई एक ऐसी ध्वनि है जो लगातार सुनाई देती रहती है शरीर के भीतर भी और बाहर भी। हर कहीं, वही ध्वन..
04 Mar हिन्दू धर्मग्रंथ 'वेद' को जानिए...
jipanditji 2 119
वेद मानव सभ्यता के लगभग सबसे पुराने लिखित दस्तावेज हैं। वेदों की 28 हजार पांडुलिपियां भारत में पुणे के 'भंडारकर ओरिएंटल रिसर्च इंस्टीट्यूट' में रखी हुई हैं।इनमें से ऋग्वेद की 30 पांडुलिपियां बहुत ही म..
04 Mar अर्जुन की मृत्यु पर देवी गंगा क्यों मुस्कुराने लगी
jipanditji 1 120
कुंती पुत्र अर्जुन को महाभारत के समय का सबसे बड़ा धनुर्धर माना गया है। ऐसा भी माना जाता है कि अर्जुन के पास अगर धनुष चलाने का कौशल नहीं होता तो पाण्डव शायद ही महाभारत युद्ध जीत पाते। साथ ही अधिकतर लोग..
03 Mar अष्टोत्तर शतनामावली: रविवार को कीजिये सूर्य की आराधना इन नामों से! (108 Names of Lord Sun)
jipanditji 1 155
भगवान सूर्य देव आदित्य, रवि, भानु आदि नामों से जाने जाते हैं।उनका तेज इस पूरी सृष्टि को प्रकाशित करता है, इनकी पत्नी का नाम अदिति और छाया है तथा उनके पुत्र शनि देव है जिन्हें न्याय का देवता कहा जाता ह..
Showing 1 to 12 of 53 (5 Pages)