Menu
Your Cart

Bhakti_Sangrah - featured RSS Feed

04 Apr ढूंढिए अपना रंग जो आपकी भूमिका को निखारे
jipanditji 4 2923
हर इंसान किसी न किसी रंग में रंगा है, किसी न किसी राग में मस्त है। दुनिया के रंगमंच पर विभिन्न भूमिकाएं अदा कर रहे इंसान अलग-अलग रंगों की शरण लेते हैं।साधु-सन्‍यासी गेरूआ पहनते हैं तो समाज सेवी सफेद, ..
18 Mar सोलह संस्कार: क्यों आवश्यक हैं सनातन धर्म में ये संस्कार?
jipanditji 1 1446
सोलह संस्कार :-शास्त्रों के अनुसार मनुष्य जीवन के लिए कुछ आवश्यक नियम बनाए गए हैं जिनका पालन करना हमारे लिए आवश्यक माना गया है। मनुष्य जीवन में हर व्यक्ति को अनिवार्य रूप से सोलह संस्कारों का पालन करन..
12 Mar विघ्नहर्ता से सुधर सकते हैं वास्तुदोष
jipanditji 2 1408
वास्तु पुरुष की प्रार्थना पर ब्रह्माजी ने वास्तुशास्त्र के नियमों की रचना की थी। इनकी अनदेखी करने पर उपयोगकर्ता की शारीरिक, मानसिक, आर्थिक हानि होना निश्चित रहता है। वास्तुदेवता की संतुष्टि गणेशजी की ..
10 Mar महामृत्युंजय मंत्र की उत्पत्ति की कथा
jipanditji 2 685
एक बार ऋषि मृकण्डु और उनकी पत्नी मरुद्मति ने पुत्र की प्राप्ति के लिए तपस्या की और भगवान शिव ने भक्ति से प्रभावित होकर उन्हें दो विकल्प दिए। जिसमें अल्पायु बुद्धिमान पुत्र और दीर्घायु मंदबुद्धि पुत्र ..
07 Mar !! श्री हनुमान चालीसा अर्थ सहित !!
jipanditji 1 503
ॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐश्री गुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुरु सुधारि।बरनऊँ रघुवर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि।?《अर्थ》→ गुरु महाराज के चरण.कमलों की धूलि से अपने मन रुपी दर्पण को पवित्र करके श्री रघुवीर के निर्मल ..
06 Mar ओम या ऊँ के रहस्य और चमत्कार
jipanditji 1 1938
हिन्दू धर्म में ओम एक ‘विशेष ध्वनि’ का शब्द है।तपस्वी और ध्यानियों ने जब ध्यान की गहरी अवस्था में सुना की कोई एक ऐसी ध्वनि है जो लगातार सुनाई देती रहती है शरीर के भीतर भी और बाहर भी। हर कहीं, वही ध्वन..
04 Mar हिन्दू धर्मग्रंथ 'वेद' को जानिए...
jipanditji 2 449
वेद मानव सभ्यता के लगभग सबसे पुराने लिखित दस्तावेज हैं। वेदों की 28 हजार पांडुलिपियां भारत में पुणे के 'भंडारकर ओरिएंटल रिसर्च इंस्टीट्यूट' में रखी हुई हैं।इनमें से ऋग्वेद की 30 पांडुलिपियां बहुत ही म..
04 Mar अर्जुन की मृत्यु पर देवी गंगा क्यों मुस्कुराने लगी
jipanditji 1 1936
कुंती पुत्र अर्जुन को महाभारत के समय का सबसे बड़ा धनुर्धर माना गया है। ऐसा भी माना जाता है कि अर्जुन के पास अगर धनुष चलाने का कौशल नहीं होता तो पाण्डव शायद ही महाभारत युद्ध जीत पाते। साथ ही अधिकतर लोग..
03 Mar अष्टोत्तर शतनामावली: रविवार को कीजिये सूर्य की आराधना इन नामों से! (108 Names of Lord Sun)
jipanditji 1 1602
भगवान सूर्य देव आदित्य, रवि, भानु आदि नामों से जाने जाते हैं।उनका तेज इस पूरी सृष्टि को प्रकाशित करता है, इनकी पत्नी का नाम अदिति और छाया है तथा उनके पुत्र शनि देव है जिन्हें न्याय का देवता कहा जाता ह..
03 Mar पारद शिवलिंग के लाभ
jipanditji 1 721
पारद शिवलिंग के लाभइस शिवलिंग के पूजन से उपासक को अपने जीवन में समृद्धि की प्राप्‍ति होती है। इसलिए जो कोई भी धन की कामना रखता है वो पारद शिवलिंग की आराधना जरूर करे। इसके अलावा पारद शिवलिंग की आराधना ..
03 Mar कौड़ी का महत्व
jipanditji 1 756
ज्योतिष शास्त्र में अनेक चीजों का प्रयोग किया जाता है। ऐसी ही एक चीज है कौड़ी। यह समुद्र से निकलती हैं और सजावट के काम भी आती है। धन प्राप्ति और दांपत्य जीवन के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। धर्म..
01 Mar हनुमान जी की माता एक अप्सरा
jipanditji 1 533
 माता अंजनी से हनुमान के जन्म की कथा तो हम सब ने सुनी है लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं की माता अंजनी किसी समय इंद्र के दरबार में पुंजिकस्थला नामक एक अप्सरा हुआ करती थी।ऐसा माना जाता है की एक बार पुजिंका..
Showing 1 to 12 of 53 (5 Pages)